Upload SomeThing

भीड़ में खड़ा होना मकसद नहीं है मेरा बल्कि भीड़ जिसके लिए खड़ी है वह बनना है मुझे..!


मंज़िल नहीं मुझे तो राह से मिलना है, दुनिया के साथ किसे जीना है, मुझे तो Attitude में जीकर शान से मरना है.


हम दुश्मनों को भी बड़ी शानदार सज़ा देते हैं, हाथ नहीं उठाते बस नज़रों से गिरा देते हैं।


मैं अपनी गलती पर शर्मिंदा हूँ, मैं भूल गया था कि तुम एक मूर्ख हो।


हमारी हैसियत का अंदाज़ा, 
तुम ये जान के लगा लो,
हम कभी उनके नही होते, 
जो हर किसी के हो जाए।


भीड़ में खड़ा होना मकसद नहीं है मेरा बल्कि भीड़ जिसके लिए खड़ी है वह बनना है.. मुझे…!


घमंड में भी अक्सर ख़त्म हो जाते है रिश्ते कसूर हर बार गलतियों का नहीं होता।


सुन पगली पर्सनैलिटी की तो बात ही मत कर,
मैं आज भी जिस गली से निकलता हूं
तो सारी लड़की, एक ही सॉन्ग गाती हैं
बहारों फूल बरसाओ मेरा महबूब आया है


हम तो इतने रोमान्टिक है की हम अगर थोड़ी देर मोबाइल हाथ मै लेले.. तो वो भी गरम हो जाता है…!


कुछ ही देर की खामोशी है, फिर कानों में शोर आएगा ! तुम्हारा तो सिर्फ वक्त है… हमारा तोह दौर आएगा !


सबको अच्छे लगना जरूरी नहीं किसी की आँखों मे खटकना भी जरूरी है।


किनारा न मिले तो कोई बात नहीं, दुसरो को डुबाके मुझे तैरना नहीं हे।


चलो आज फिर थोडा मुस्कुराया जाये,
बिना माचिस के कुछ लोगो को जलाया जाये!!


हुनर सबका अलग होता है दोस्त किसी का छिप जाता है किसी का छप जाता है…।


प्यार इश्क मोहब्बत सब धोखेबाजी है…अपनी लाइफ में तो सिर्फ Attitude ही काफी है


जोश और जुनुन इतना कि दुश्मन के दुश्मन को भी हिला दु .. और Attitude इतना कि Girlfriend की सहेली को भी अपने प्यार में झुका दु ।


राज तो हमारा हर जगह पे है।
पसंद करने वालों के “दिल” में और
नापसंद करने वालों के “दिमाग” में।


सर झुकाने की आदत नहीं है,
आँसू बहाने की आदत नहीं है,
हम खो गए तो पछताओगे बहुत,
क्युकी हमारी लौट के आने की आदत नहीं है!


भगवान मेरे दुश्मनों को मेरी सफ़लता देखने के लिए लम्बी उम्र देना।


हम आज भी शतरंज़ का खेल,
अकेले ही खेलते हैं,
क्यूंकि दोस्तों के खिलाफ चाल,
चलना हमे आता नही!!


मेरा Attitude भगवान् का दिया तोहफा है…कोई मुझसे ये छीन नहीं सकता।


कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे
हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे
वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए
हम तो बादल है प्यार के किसी और पर बरस जायेंगे.


भीड़ में खड़े होना मेरा मक़सद नहीं है ज़नाब, बल्कि मुझे वो बनना है जिसके लिए भीड़ खड़ी है।


शायरीयो का बादशाह हूँ और कलम मेरी रानी है,
अल्फाज़ मेरे गुलाम है, बाकी रब की महेरबानी है!!


मैंने कुछ लोग लगा रखे हैं पीठ पीछे बात करने के लिए,
पगार कुछ नहीं है उनकी पर काम बड़ी ईमानदारी से करते हैं!!


जहाँ कदर न हो अपनी वहाँ जाना फ़िज़ूल है,
चाहे किसी का घर हो चाहे किसी का दिल।


मेरी किस्मत को परखने की गुस्ताखी मत करना, पहेले भी कई तुफान का रुख मोड़ चुका हूँ…!


किसी मूर्ख से बहस करने से बेहतर है कि शांत रहा जाए


ज़िंदगी से हम अपनी कुछ उधार नही लेते,
कफ़न भी लेते है तो अपनी ज़िंदगी देकर!!


राज तो हमारा हर जगह पे है। पसंद करने वालों के “दिल” में और नापसंद करने वालों के “दिमाग” में।


रहते हैं आस-पास ही, लेकिन साथ नहीं होते….. कुछ लोग जलते हैं मुझसे, बस…..खाक नहीं होता..!!


जिस दिन हमने अपना रॉयल अंदाज़ दिखाया..उस दिन ये Attitude वाली लड़कियां खड़े खड़े ढेर हो जाएंगी??


जमींर हमसे बेचा ना गया,
वरना शाम तक अमीर हो जाते,
वाकिफ़ तो हम भी हैं, मशहूर होने के तौर तरीकों से,
पर ज़िद तो हमें अपने अंदाज से जीने की है।


बचपन से ही शौक था अच्छा इंसान बनने का, लेकिन बचपन खत्म और शौक भी खत्म।


जो दिल का सच्चा होता है वो झगड़ा चाहे जितना करे लेकिन कभी छोड़ के नहीं जाएगा।


अंजाम की परवाह होती तो,
हम मोहब्बत करना छोड़ देते,
मोहब्बत में तो जिद्द होती है,
और जिद्द के बड़े पक्के हैं हम!!


बस इतने क़रीब रहो की बात ना हो तब भी दूरी ना लगे।


हम खुद अपनी तकदीर लिखते हैं
खुद की लिखावट को बदलना तो
हमारी फितरत है हार को जीत में
बदलकर हाथों की लकीर बदलते हैं


अपने लिए नहीं तो उन लोगों के लिए कामयाब बनो, जो आपको नाकामयाब देखना चाहते हैं |

 


मेरे घर वाले बोले सुधर जा पगले..। मैने बोला अगर हम सुधर गये तो उनका क्या होगा….! जिन्हें हमारी मस्ती प्यारी है

 


अजीब सी आदत और गज़ब की फितरत है मेरी, मोहब्बत हो या नफरत बहुत शिद्दत से करता हूँ।


जीत का असली मज़ा तब है दोस्तो जब दुश्मन भी तुमसे हाथ मिलाने को बेताब रहे।


जीने का असली मजा तो तब है दोस्तों, जब दुश्मन भी तुमसे हाथ मिलाने को बेताब रहे !!


आत्मसम्मान एक छोटी सी चीज़ है जो आपको दूसरों से अलग बनाती है।


हुनर सबका अलग होता है, बस किसी का छिप जाता है और किसीका छप जाता है।


ग़ुस्से में कभी कोई फ़ैसला मत लो, और ख़ुशी में कभी कोई वादा ना करो।


आँख उठाकर भी न देखूँ, जिससे मेरा दिल न मिले, जबरन सबसे हाथ मिलाना, मेरे बस की बात नहीं.!


एक लड़की जो पा सकती है सिर्फ उसे ही हासिल कर पाती है लेकिन एक औरत जो चाहती है उसे पा लेती है।


हमको आज़माने की ज़ुर्रत नहीं किसी की,
हम खुद अपनी तक़दीर लिखते है,
खुदा की लिखावट को बदलना तो हमारी फ़ितरत है,
हार को जीत में बदल कर हाथो की लकीर बदलते है!!


ना पेशी होगी, न गवाह होगा, अब जो भी हमसे उलझेगा बस सीधा तबाह होगा


मेरी हिम्मत को पहचान ने की कोशिश ना कर, पहले भी कही तुफानो ने उनका रास्ता बदल दिया हे।


मैं माफ़ तो कर सकता हूँ लेकिन कभी भूल नहीं सकता।


एक ख़्याल ही बताती है कि परवाह कितना है, वरना कोई तराजू नहीं होती रिश्तों में।


मुझे ख़ुद को बेक़सूर सबित करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि मैं जानता हूँ कि मैं बेक़सूर हूँ।


भाई बोलने का हक़ मैंने सिर्फ दोस्तों को दिया है..! वरना दुश्मन तो आज भी हमें बाप के नाम से पहचानते हैं..!!


ये मत समझ कि तेरे काबिल नहीं हैं हम,
तड़प रहे हैं वो जिसे हासिल नहीं हैं हम।


मूर्ख व्यक्ति से दोस्ती करने से बेहतर है कि आप अकेले ही खुश रहो।


बहुत गौर से देखने पर जिंदगी को जाना मैंने… दिल से बड़ा दुश्मन पूरे जमाने में नहीं है…!!!


मुझे खैरात में मिली ख़ुशियाँ अच्छी नहीं लगती, मैं अपने ग़मों में भी रहता हूँ नवाबो की तरह..।


मेरें अंदर कमी निकालने से पहले तुम ख़ुद की सारी कमियाँ खत्म करके दिखाओ।


खून में उबाल आज भी खानदानी है ….दुनिया हमारे शौक की नहीं Attitude की दीवानी है..!


मुँह पर सच बोलने की आदत हैं मुझे इसलिए लोग मुझें बदतमीज कहते है।


हुकुमत वो ही करता है जिसका दिलो पर राज हो!! वरना यूँ तो गली के मुर्गो के सर पे भी ताज होता है!!


भीड़ में खड़ा होना मकसद नहीं हैं मेरा,
बल्कि भीड़ जिसके लिए खडी है वो बनना है मुझे!!


दुनियाँ में अगर कुछ छोड़ने जैसा है तो दुनियाँ से उम्मीद करना छोड़ दो।


अगर चाहते हो कि भगवान मिले तो ऐस कर्म करो कि दुआ मिले।


लगता था ज़िन्दगी को बदलने में वक़्त लगेगा. . .पर क्या पता था बदलता हुआ वक़्त ज़िन्दगी बदल देगा.


ख़ामोशी का अपना एक अलग ही मज़ा है, पेड़ो की जड़ें फड़फड़ाया नहीं करती दोस्त।


ज़ाहिर भी कर रही थी कुछ,कुछ छुपा भी रही थी,…..उसकी पलकें झुकीं हुईं थीं,और वो मुस्कुरा भी रही थी…!


वो खुद पर इतना गुरूर करते हैं,
तो इसमें हैरत की बात नहीं,
जिन्हें हम चाहते हैं,
वो आम हो ही नहीं सकते।


मेरी ख़ामोशी को कमजोरी ना समझ ऐ काफिर,
गुमनाम समन्दर ही खौफ लाता है!!


किसी पर शक करके बर्बाद होने से अच्छा है, किसी पर यकीन करके बर्बाद जो जाओ।


#राहें_बदले या #बदले_वक्त,
#हम तो #अपनी_मँजिल #पायेंगे,
जो #समझते है #खुद को #बादशाह,
#एक_दिन उसे #अपने_दरबार में #जरूर_नचायेंगे ।।


अभी तो हम मैदान में उतरे भी नहीं,
और लोगों ने हमारे चर्चे शुरू कर दिये!!


ना ही  कद बड़ा होता ? है और ना ही पद बड़ा होता हैं,  बड़ा वो  होता है जो मुसीबत  में एक दूसरे  के लिये हमेशा खड़ा होता हैं ।।


कमियाँ तो बहुत हैं मुझमें… साला कोई निकाल के तो देखे।


बड़ी से बड़ी हस्ती मिट गयी मुझे झुकाने मे बेटा तू तो कोशिश भी मत करना तेरी उम्र गुजर जायगी मुझे गिराने मे..!

 


भीड़ में खड़ा होना मकसद नहीं है मेरा बल्कि भीड़ जिसके लिए खड़ी है वह बनना है.. मुझे…!


हम खुद अपनी तकदीर लिखते हैं
खुद की लिखावट को बदलना तो
हमारी फितरत है हार को जीत में
बदलकर हाथों की लकीर बदलते हैं


दुनियाँ में अगर कुछ छोड़ने जैसा है तो दुनियाँ से उम्मीद करना छोड़ दो


बेवकूफ़ होते है वो लोग,
जो किताब मे चेहरे डाल के पढ़ा करते है,
हम तो उनमे से है जो चेहरे को देख के,
किताब लिख दिया करते है!!


अभी तो हम मैदान में उतरे भी नहीं,
और लोगों ने हमारे चर्चे शुरू कर दिये!!


जहाँ कदर न हो अपनी वहाँ जाना फ़िज़ूल है,
चाहे किसी का घर हो चाहे किसी का दिल।


सभी लड़कियों का सपना होता है कि बिना मोटे हुए खाते रहना।