Upload SomeThing

वह तो पानी की बूँद है जो आँखों से बह जाये,
आंसू तो वह है जो तड़प के आँखों मे ही रह जाये,
वह प्यार क्या जो लफ्ज़ो मे बयान हो,
प्यार तो वह है जो आखों मे नज़र आये…


आँखों के सामने हमने हर पल आपको ही पाया है, हमने तो हर पल इस दिल में बस आपको ही बसाया है, हम आपके बिना जिए भी तो कैसे, क्या कोई अपनी जान के बिना भी जी पाया है।


इश्क-ऐ-दरिया में हम डूब कर भी देख आये, वो लोग मुनाफे में रहे जो किनारे से लौट आये !!


हमसे एक वादा करो हमे रुलाओगे नही,
हालात जो भी हों कभी हमे भुलाओगे नही,
अपनी आँखों में छुपा कर रखोगे हमको,
और फिर किसी को दिखाओगे नही।


चूल्हे नहीं जलाए कि बस्ती ही जल गई
कुछ रोज़ हो गए हैं अब उठता नहीं धुआं।
-गुलजार


किसी की जिंदगी सिर्फ  दो वजह से बदलती है, एक कोई बहुत खास इंसान उसकी जिंदगी में आ जाये, दूसरा कोई बहुत खास इंसान उसकी जिंदगी से चला जाये।


आग लगी दिल में जब वो खफ़ा हुए,
एहसास हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा वो हमे कुछ दे न सके,
लेकिन दे गये बहुत कुछ जब वो वेबफा हुए।


पलको से आँखो की हिफाजत होती है
धडकन दिल की अमानत होती है
ये रिश्ता भी बडा प्यारा होता है
कभी चाहत तो कभी शिकायत होती है


कुछ लोगो की मोहब्बत दिल में इस कदर उतर जाती है,
जब उन्हें दिल से निकालो तो जान निकल जाती है।


तुम्हारी फिक्र है मुझे इसमे कोई शक नही, तुम्हे कोई और देखे किसी को ये हक नही।


हम तो मजाक में भी किसी को
दर्द देने से डरते हैं
न जाने लोग कैसे सोच-समझकर
दिलों से खेल जाते हैं


बहुत सुकून मिलता है जब उनसे हमारी बात होती है,
वो हजारो रातों में वो एक रात होती है,
जब निगाहें उठा कर देखते हैं वो मेरी तरफ,
तब वो ही पल मेरे लीये पूरी कायनात होती है।


जो लड़की आपकी बात सुन कर, आपको पागल कहती है ना वही आपसे सच्ची मोहब्बत करती है।


बदल जाओ वक्त के साथ
या फिर वक्त बदलना सीखो
मजबूरियों को मत कोसो
हर हाल में चलना सीखो


सिर्फ एक सफ़ाह
पलटकर उसने,
बीती बातों की दुहाई दी है।
फिर वहीं लौट के जाना होगा,
यार ने कैसी
रिहाई दी है।
-गुलज़ार


धीरे से आकर हमारे दिल में उतर जाते हो,
खुशबू की तरह मेरी सांसो में बिखर जाते हो,
अब तो तुम्हारे इश्क में ये हाल हो गया है,
सोतें जागते बस तुम ही तुम नजर आते हो।


मैं तो इस वास्ते चुप हूं कि तमाशा न बने
और तू समझता है मुझे तुझसे गिला कुछ भी नहीं!


चुपके से आकर मेरे दिल में उतर जाते हो, सांसो में मेरी खुशबू बन कर बिखर जाते हो, कुछ यूँ
चला है तेरे इश्क का जादू, सोतें जागते अब तो तुम ही तुम नज़र आते हो।


अब हम न तुम्हे खोना चाहते हैं,
अब न तुम्हारी यादों में रोना चाहतें हैं,
बस तुम्हारा साथ मिले हमे हर पल,
अब बस इतनी सी बात तुमसे कहना चाहते हैं।


मैंने कहा जान है तू मेरी, मैंने कहा ज़िन्दगी है तू मेरी, कभी मुझसे जुदा होने की सोचना भी मत, क्योंकि पहचान है तू मेरी।


कर दे नज़रे करम मुझ पर,
मैं तुझपे ऐतबार कर दूँ,
दीवाना हूँ तेरा ऐसा,
कि दीवानगी की हद को पर कर दूँ,


मुझे तो न कोई आसमान चाहिये, मुझे तो न कोई जहाँ चाहिये, तू तो सितारों की एक महफ़िल है, बस उस पूरी महफ़िल में से बस एक तू चाहिए।


दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे,
यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बेठे,
वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का,
और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बेठे!

 


अपनी मोहब्बत में बस इतना सा उसूल है,
जब तू कुबूल है तो तेरा सब कुछ कुबूल है।


तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,
दिल मेरा था और धड़क रहा था वो।
प्यार का ताल्लुक भी अजीब होता है,
आंसू मेरे थे और सिसक रहा था वो।


आह को चाहिए एक उम्र असर होने तक, कौन जीता है तेरी ज़ुल्फ के सर होने तक


न जिद है न कोई गुरूर है हमे,
बस तुम्हे पाने का सुरूर है हमे,
इश्क गुनाह है तो गलती की हमने,
सजा जो भी हो मंजूर है हमे।


फूल खिलतें हैं बहारों का समा होता है,
ऐसे मौसम में ही तो प्यार जमा होता है,
दिल की बातें होठों से नही कहते हैं,
ये फ़साना तो निगाहों से बयां होता है।


मेरे बारे में कोई राय मत बनाना ग़ालिब,
मेरा वक्त भी बदलेगा तेरी राय भी...!


बदल जाओ वक्त के साथ
या फिर वक्त बदलना सीखो
मजबूरियों को मत कोसो
हर हाल में चलना सीखो


तुझे देख कर ये जहाँ रंगीन नजर आता है,
तेरे बिना दिल को चैन कहां आता है,
तू ही है मेरे इस दिल की धड़कन,
तेरे बिना ये जहां बेकार नज़र आता है।


अपनी कलम से लिखूं वो लफ़्ज़ हो तुम, अपने दिमाग से सोच लूँ वो ख्याल हो तुम, अपनी दुआओ
में मांग लूँ वो मन्नत हो तुम, और जिसे हम अपने दिल में रखते हैं वो चाहत हो तुम।


अगर मैं जानता हूँ कि प्यार क्या है, तो इसकी वज़ह सिर्फ तुम हो।


परवाने को शमा पर जलकर
कुछ तो मिलता होगा
यूं ही मरने के लिए कोई
मोहब्बत नहीं करता...


एहसास के दामन में आंसू गिरा कर देखो,
प्यार कितना है कभी हमे आज़मा कर देखो,
बिछड़ कर तुमसे क्या होगी दिल की हालत,
कभी किसी आईने पर पत्थर गिरा कर देखो।


न गुलफाम चाहिये, न कोई सलाम चाहिये,
मोहब्बत का बस कोई पैगाम चाहिये,
और जिसको पीकर उड़ जायें होश हमारे,
हमारे ल्वजो को तो ऐसा ज़ाम चाहिये।


चाहे तू मुझे कभी मिले या न मिले..लेकिन मेरे हिस्से की भी सारी खुशी तुझे मिले।


हमें भी नींद आ जाएगी, हम भी सो ही जाएंगे
अभी कुछ बेकरारी है, सितारों तुम तो सो जाओ...।


तेरी झील सी आँखों में डूब जाने का दिल चाहता है,
वफ़ा पर तेरी बर्बाद हो जाने का दिल चाहता है,
कोई सम्भाले हमे, बहक रहे हैं कदम,
तेरे इश्क में मर जाने का दिल चाहता है।


तेरी मोहब्बत का ये कितना खूबसूरत एहसास है,
अब तो मुझे लगता है हर पल की तू मेरे कहीँ आस पास है।


ज़िन्दगी यूँ ही बहुत कम है, मोहब्बत के लिए, फिर एक दूसरे से रूठकर वक़्त गँवाने की जरूरत क्या है।


वो दिल ही क्या जो वफ़ा न करे, तुझे भूल कर जिए कभी खुदा न करे, रहेगी तेरी मोहब्बत जिंदगी बन कर, वो बात और है जिंदगी वफ़ा न करे।


मिल सके जो आसानी से
उसकी ख्वाहिश किसे है
जिद्द तो उसकी है जो
मुकद्दर में लिखा ही नहीं है।


जिसके साथ आप हँस सकते हो उसके साथ पूरा दिन बिता सकते हो, लेकिन जिसके साथ आप रो सकते हो उसके साथ आप पूरी ज़िन्दगीं बिता सकते हो।


सफर वही तक जहाँ तक तुम हो, नज़र वही तक
जहाँ तक तुम हो, वैसे तो हज़ारों फूल खिलतें हैं गुलशन में मगर, खुशबू वही तक जहाँ तक तुम हो।


इश्क सभी को जीना सीखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क नही किया तो करके देखना,
ज़ालिम हर दर्द सहना सिखा देता है।


दुश्मन भी मेरे मुरीद हैं शायद, वक्त-बेवक्त मेरा नाम लिया करते हैं।
मेरी गली से गुजरते हैं छुपा के खंजर, रू-ब-रू होने पर सलाम किया करते हैं।


वो आँखों से अपनी शरारत करते हैं
वो अपनी अदाओं से कयामत करतें हैं।
हमारी निगाहें उनके चहरे से हठतीं नही,
और वो हमारी निगाहों की शिकायत करतें हैं।


इश्क करती हूँ तुझसे अपनी जिंदगी से ज्यादा,
मैं डरतीं हूँ मौत से नही तेरी जुदाई से ज्यादा,
चाहे तो हमे आज़मा कर देख किसी और से ज्यादा,
मेरी जिंदगी में कुछ नही तेरी आवाज़ से ज्यादा।


खुदासे बस आपकी ख़ुशी मांगतें हैं,
दुआओं में आपकी हसीं मांगतें हैं,
सोचतें हैं आपसे क्या मांगे,
चलो आपसे उम्र भर की मोहब्बत मांगतें हैं।


हमसे एक वादा करो हमे रुलाओगे नही,
हालात जो भी हों कभी हमे भुलाओगे नही,
अपनी आँखों में छुपा कर रखोगे हमको,
और फिर किसी को दिखाओगे नही।


जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जो है पास आपके उसको सम्भाल कर रखना,
क्योंकि एक बार खोकर प्यार दोबारा नही मिलता।


मेरी मोहब्बत है वो कोई मज़बूरी तो नही,
वो मुझे चाहे या मिल जाये, जरूरी तो नही,
ये कुछ कम है कि बसा है मेरी साँसों में वो,
सामने हो मेरी आँखों के जरूरी तो नही!


नज़रो को तेरे प्यार से इंकार नही है, अब मुझे किसी और का इंतज़ार नही है, मैं खामोश हूँ तो वो वजूद है मेरा, लेकिन तुम ये न समझना मुझे तुमसे प्यार नही है।


हर एक हसीन चहरे में गुमान उसका था,
वस सका न इस दिल कोई क्योंकि ये मकान उसका था,
मिट गया हर एक गम मेरे दिल से,
लेकिन जो मिट न सका मेरे दिल से वो नाम उसका था।


नहीं बस्ती किसी और की सूरत अब इन आँखों में
काश की हमने तुझे इतने गौर से ना देखा होता ।


ये न सोचा कभी हमने
कि हमने दोस्तों’ से लिया क्या है
हमने तो खुद से पूछा सदा
कि हमने उनको दिया क्या है !


जाम पर जाम पीने से क्या फायदा,
शाम को पीके सुबह को उतर जाएगी,
जरा दो घूट मेरे इश्क की पी कर तो देख,
तेरी सारी जिंदगी नशे में गुजर जायेगी।


झूठ बोलकर तो मैं भी दरिया पार कर जाता,
डुबो दिया मुझे सच बोलने की आदत ने...


इश्क के समंदर में सब डूबना चाहते हैं, इश्क में लोग कुछ खोते हैं तो कुछ पाते हैं, इश्क तो एक गुलाब है जो सब तोडना चाहते हैं, लेकिन हम तो ये गुलाब आपको देना चाहते हसीन।


शिकवा करूं तो किससे करूं, ये अपना मुकद्दर है अपनी ही लकीरें हैं।


मैं यूँ मिलूँ तुझसे की तेरा लिबास बन जाऊँ, तुझे बना कर समंदर खुद प्यास बन जाऊँ, आज पहलू में टूट कर बिखर जाऊँ, कल को शायद मुमकिन नही हो मैं तुझको पाऊँ।


दिल तोड़कर वो मेरा खश हैं
तो शिकायत कैसी...
अब मैं उन्हें खुश भी न देखूं
तो फिर ये मोहब्बत कैसी...


तू देख या न देख इसका गम नही,
पर तेरे न देखने की अदा किसी देखने से कम नही।


खामोश बैठें तो लोग कहते हैं उदासी अच्छी नहीं,
जरा-सा हंस लें तो मुस्कुराने की वजह पूछते हैं।


हज़ार बार ली है तुमने तलाशी मेरे दिल की, बताओ कभी कुछ मिला है इसमें प्यार के सिवा..!


सफर वहीं तक जहाँ तक तुम हो,
नजर वहीं तक जहां तक तुम हो,
हज़ारों गुल देखें हैं गुलशन में हमने,
पर खुशबू वहीं तक जहां तक तुम हो।


हर फैसला किया नही जाता सिक्का उछाल के,
ये दिल का मामला होता है जरा देख-भाल के
तुम क्या जानो हमे तुमसे कितनी मोहब्बत है,
कहो तो अभी रख दूँ अपना कलेजा निकल के।


तमु लौटकर आने की तकलीफ दोबारा मत करना,
हम एक बार की गई मोहब्बत दोबारा नहीं करते!


अब जानेमन तू तो नहीं,
शिकवा -ए-गम किससे कहें
या चुप हें या रो पड़ें,
किस्सा-ए-गम किससे कहें।


जो दिल के करीब थे ,वो जबसे दुश्मन हो गए
जमाने में हुए चर्चे ,हम मशहूर हो गए


तू तोड़ दे वो कसम जो तूने खाई है,
कभी कभी याद करने में क्या बुराई है,
तुझे याद किये बिना रहा भी तो नही जाता,
तूने दिल में जगह जो ऐसी बनाई है।


किसी न किसी को किसी पर एतवार हो जाता है,
एक अजनबी सा चेहरा ही यार हो जाता है,
खूबियों से ही नही होती मोहब्बत सदा,
किसी की कमियों से भी कभी प्यार हो जाता है।


जो दिल के करीब थे ,वो जबसे दुश्मन हो गए
जमाने में हुए चर्चे ,हम मशहूर हो गए


दीवाना हूँ तेरा मुझे इंकार तो नही,
कैसे मैं कह दूँ मुझे प्यार नही,
कुछ शरारत तो तेरी निगाहों की भी थी,
मैं अकेला इसका गुनहा गार तो नही।


कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है!
कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है!
पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से,
तो वो प्यार ही जीने की वजह बन जाता है!

 


एक तेरा दीदार मेरे सारे गमो को भुला देता है,
मेरी जिंदगी को जिंदगी बना देता है।


उदास नहीं होना, क्योंकि मैं साथ हूँ,
सामने न सही पर आस-पास हूँ,
पल्को को बंद कर जब भी दिल में देखोगे,
मैं हर पल तुम्हारे साथ हूँ!


आपकी परछाई हमारे दिल में है,
आपकी यादें हमारी आँखों में हैं,
आपको हम भुलाएं भी कैसे,
आपकी मोहब्बत हमारी सांसो में हैं।


सूखे पत्तो से प्यार कर लेंगे हम,
खुद पर फिर से ऐतबार कर लेंगे हम,
सिर्फ एक बार कह दो तुम मेरे हो सनम,
कसम से तेरा जिंदगी भर इंतज़ार कर लेंगे हम।


सांस लेना भी कैसी आदत है
जिए जाना भी क्या रवायत है
कोई आहट नहीं बदन में कहीं
कोई साया नहीं आंखों में
पांव बेहिस हैं, चलते जाते हैं
इक सफर है जो बहता रहता है
कितने बरसों से कितनी सदियों से
जिए जाते हैं, जिए जाते हैं...


बहुत दर्द होता है यह सोचकर कि मुझे ऐसा, क्या पाना था जो मैंने खुद को भी खो दिया।


अपनी मोहब्बत से सजाना है तुझको, कितनी चाहत है तुझसे ये बताना है तुझको, राहों में तेरी बिछाकर मोहब्बत अपनी, इश्क के सफर पर ले जाना है तुझको।


हम भी अब मोहब्बत के गीत गाने लगे हैं, जब से वो हमारे ख्वाबों में आने लगे हैं।


मोहब्बत की शमा जला कर तो देखो, ये दिलो की दुनिया सज़ा कर तो देखो, तुझे हो न जाए मोहब्बत तो कहना, ज़रा हमसे नजरे मिला कर देखो।


या खुदा रेत के सेहरा को समंदर कर दे
या छलकती हुई आंखों को भी पत्थर कर दे।


तुझ पर एतवार करना हैं,
दिल जान से प्यार करना है,
मेरी ख्वाइश ज्यादा नही बस इतनी हैं,
तुझे हर लम्हे में अपना बना कर रखना है।


जाने कब आपसे प्यार का इज़हार होगा,
जाने कब आपको हमसे प्यार जोगा,
गुजर रही हैं आपकी ही याद में ये रातें,
जाने कब आपको भी हमारा इंतज़ार होगा।


दो बातें उनसे की तो दिल का दर्द खो गया, लोगो ने हमसे पूछा तुमको क्या हो गया, हम तो बस यूँ ही मुस्कुरा कर रह गये, अब कैसे कह हमे भी किसी से प्यार हो गया।


हर पर्वत को झुका नही सकते, हर दरिया को
सुखा नही सकते, तुम हमे भूल जाओ भले ही, लेकिन हम तुम्हे कभी भुला नही सकते।


लिखना था कि
खुश हैं तेरे बगैर भी यहां हम,
मगर कमबख्त...
आंसू हैं कि कलम से
पहले ही चल दिए।


दुनिया मे मोहब्बत आज भी बरकरार है..क्योंकि एकतरफा प्यार अब भी वफादार है।


अगर कभी उदास हो जाओ तो मेरे हँसी मांग लेना,
अगर कभी कोई गम आपके पास आये तो मेरी ख़ुशी मांग लेना,
खुदा आपको लम्बी उम्र दे जीने के लिए,
अगर एक पल भी कम पड़े तो मेरी
मेरी जिंदगी मांग लेना।


कुछ भी कहो लेकिन एक बार धोखा खाने के बाद किसी पर यकीन करना मुश्किल होता है।


दिल का हाल बताना नही आता,
हमे ऐसे किसी को तड़पाना नही आता,
सुनना तो चाहतें हैं हम उनकी आवाज़ को,
पर हमे कोई बात करने का बहाना नही आता।


मोहब्बत हाथो में पहनी चूडी की तरह होती है
खनकती है,
संवरती है,
और
आखिर टूट जाती है|


मैं तुमसे बेहद प्यार करता हूँ, इसलिए नहीं कि तुम्हारा चेहरा कैसा है बल्कि इसलिए कि तुम कैसे हो।


भाग्य को और दूसरों को दोष क्यों देना,,, जब सपने हमारे हैं तो कोशिशें भी हमारी होनी चाहिए।


बहुत सुकून मिलता है जब उनसे हमारी बात होती है,
वो हजारो रातों में वो एक रात होती है,
जब निगाहें उठा कर देखते हैं वो मेरी तरफ,
तब वो ही पल मेरे लीये पूरी कायनात होती है।


बस एक छोटी सी हां कर दो, और बस इस तरह मेरे नाम सारा जहाँ कर दो, देते हैं हम ये गुलाब आपको, बस अब ये अपनी मोहब्बत हमारे नाम कर दो।


हर कदम हर पल हम आपके साथ है,
भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं,
जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों,
लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं।


छोड़ दिया मैंने अपने दिल का साथ,
प्यार ने थाम लिया है तनहाई का हाथ।
इतना तो गुरूर है मुझे आज
भले अहसासों ने छोड़ा, तनहाई न होगी दगाबाज़।


कभी हँसा देते हो तुम,कभी रुला देती हो तुम,
कभी कभी नींद से जगा देती हो तुम,
लेकिन जब भी हमे दिल से याद करती हो,
तो सच में हमारी जिंदगी का एक पल बड़ा देती हो तुम।


दिल पर आये इल्ज़ाम से पहचानते हैं, अब लोग तो मुझे तेरे नाम से पहचानते हैं।


बैठे-बिठाए हाल-ए-दिल-ज़ार खुल गया
मैं आज उसके सामने बैठकर बेकार खुल गया। -मुनव्वर राणा


तेरी मोहब्बत ने हमे बेनाम कर दिया,
हमे हर ख़ुशी से अंजान कर दिया,
हमने तो कभी नही चाहा था हमे मोहब्बत हो,
लेकिन उसकी पहली नज़र ने हमे नीलाम कर दिया


तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,
दिल मेरा था और धड़क रहा था वो।
प्यार का ताल्लुक भी अजीब होता है,
आंसू मेरे थे और सिसक रहा था वो।


अपनी जिंदगी के बस यही उसूल हैं, अगर तू कह तो काटें भी कुबूल हैं, हंस कर चल दूँ कांच के टुकड़ो पर भी, अगर तू कह ये मेरे बिछाये हुए फूल हैं।


जब खामोश निगाहों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
हमतो बस खोये ही रहतें हैं उनके ख्यालों में,
पता ही नही चलता कब दिन कब रात होती है।


किसी मोड़ पर उसका दीदार हो जाये, काश उसे भी मुझ पर एतवार हो जाये, उसकी पलके झुकें और इकरार हो जाये, काश उसे भी मुझ से प्यार हो जाये।


ये हमारी मोहब्बत है या कुछ और ये तो पता नही,
लेकिन जो तुमसे है, वो किसी और से नही।


जब किसी रात आपको किसी की याद सताए,
और ठंडी हवा आपके बालों को सहलाये,
तो अपनी आँखे बन्द करके सो जाना,
और चुपके से हम आपके ख्वाबो में आ जायें।


मजा आता है किस्मत से लड़ने में, किस्मत आगे बढ़ने नहीं देती और मुझे रुकना आता नहीं।


किसी ने पूछा इतना अच्छा कैसे लिख लेते हो, मैने कहा दिल तोड़ना पड़ता है, लफ्जो को जोड़ने से पहले।


ख्वाहिशों से भरा पड़ा है मेरा घर इस कदर
रिश्ते जरा-सी जगह को तरसते हैं।


एक न इक रोज़ तो होना है ये जब हो जाए, इश्क का कोई भरोसा नहीं कब हो जाए


मोहब्बत का कोई मुकाम नही होता है,
वो जो रास्ता होता हैं न वही खूबसूरत तमाम होता है।


जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जो है पास आपके उसको सम्भाल कर रखना,
क्योंकि एक बार खोकर प्यार दोबारा नही मिलता।


ये तुमसे किसने कहा तुम इश्क का तमाशा करना,
अगर मोहब्बत करते हो हमसे तो बस हल्का सा इशारा करना।


तेरे नज़रों के तीर इतने शातिर है,
की पता ही नही चलता किस के खातिर हैं।


लिखना था कि
खुश हैं तेरे बगैर भी यहां हम,
मगर कमबख्त...
आंसू हैं कि कलम से
पहले ही चल दिए।


हमसे एक वादा करो हमे रुलाओगे नही,
हालात जो भी हों कभी हमे भुलाओगे नही,
अपनी आँखों में छुपा कर रखोगे हमको,
और फिर किसी को दिखाओगे नही।


प्यार का रिश्ता इतना मजबूत होना चाहिए कि किसी तीसरे इंसान की वजह से कभी न टूटे।


कोई चराग़ जलाता नहीं सलीक़े से,
मगर सभी को शिकायत हवा से होती है


दिल की धड़कन बन कर दिल मे रहोगे तुम जब तक सांस है तब तक मेरे साथ रहोगे तुम।


इस नजर ने उस नजर से बात करली,
रहे खामोश मगर फिर भी बात करली,
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुश पाया,
तो दोनों निगाहों ने रो रो कर बरसात करली।

 


मुझे खामोश देखकर इतना
क्यों हैरान होते हो ऐ दोस्तो
कुछ नहीं हुआ है बस
भरोसा करके धोखा खाया है!


न किसी का दिल चाहिए
न किसी की जान चाहिए
जो मुझे समझ सके
बस एक ऐसा इंसान चाहिए


प्यार नही है तो बेशक इनकार कर दे, दूर हो जाओ लेकिन कभी किसी की फीलिंग्स के साथ टाइम पास मत करो।


हंसी आपकी कोई
चुरा न पाए
आपको कभी कोई
रुला न पाए
खुशियों का दीप ऐसा जले
ज़िन्दगी में
की कोई तूफ़ान भी उसे
बुझा न पाए


आईना देखोगे तो मेरी याद आएगी
साथ गुज़री वो मुलाकात याद आएगी
पल भर क लिए वक़्त ठहर जाएगा,
जब आपको मेरी कोई बात याद आएगी.

 


शुरू करते हैं फिर से मोहब्बत तुम चले आओ .. . . थोड़ा हम बदल जाते हैं .. थोड़ा तुम बदल जाओ


आपको याद करना मेरी आदत बन गई है,
आपका खयाल रखना मेरी फितरत बन गई है,
आपसे मिलना ये मेरी चाहत बन गई है,
आपको प्यार करना मेरी किस्मत बन गई है।


सिर्फ एक सफ़ाह
पलटकर उसने,
बीती बातों की दुहाई दी है।
फिर वहीं लौट के जाना होगा,
यार ने कैसी
रिहाई दी है।
-गुलज़ार


रगों में दौड़ते फिरने के हम नहीं क़ाइल
जब आंख ही से न टपका तो फिर लहू क्या है।


कोई चाँद से मोहब्बत करता है, कोई सूरज से मोहब्बत करता है, हम उनसे मोहब्बत करते हैं, जो
हमसे मोहब्बत करता है।


अब आपकी मर्जी है संभालें न संभालें। खुशबू की तरह आपके रुमाल में हम हैं।


ये मत सोचना कि तुम्हारे बिना मर जायेंगे हम, वो लोग भी जी रहे हैं जिन्हें छोड़ा था मैंने तुम्हारी खातिर।


मेरी सांसो पर नाम बस तुम्हारा है…मैं अगर खुश हूं तो ये एहसान तुम्हारा है।


जब ख्याल तेरा मेरे दिल में आता रहा,
तो बहुत देर तक मेरा दिल जोर से धड़कता रहा,
जो तेरा जिक्र कल मेरे घर में छिड़ गया,
तो बहुत देर तक मेरा घर महकता रहा।


तुम ज़माने के हो हमारे सिवाय
हम किसी के नहीं, तुम्हारे हैं


कैसे बयान करें सादगी अपने महबूब की, पर्दा हमीं से था मगर नजर भी हमीं पे थी।


अब जानेमन तू तो नहीं,
शिकवा -ए-गम किससे कहें
या चुप हें या रो पड़ें,
किस्सा-ए-गम किससे कहें।


वो पूँछतें हैं की हमे क्या हुआ है,
अब हम उनसे कैसे कह उनसे इश्क हुआ है।


सोती हुई आँखों को सलाम हमारा
मीठे सुनहरें सपनों को आदाब हमारा,
दिल मे रहे प्यार का एहसास सदा ज़िंदा,
आज की रात का यही है पैग़ाम हमारा।


दिल में प्यार का आगाज हुआ करता है,
बातें करने का अंदाज हुआ करता है,
जब तक दिल को ठोकर नहीं लगती,
सबको अपने प्यार पर नाज हुआ करता है!


ये जिंदगी कितनी खूबसूरत है,
बस अब आप आइये आपकी ही जरूरत है।


तू मुझें मिले या ना मिले, मेरी तो बस यही दुआ है कि तुझें ज़माने की हर ख़ुशी मिले।


कुछ देर का इंतज़ार मिला हमको,
पर सबसे प्यारा यार मिला हमको,
तेरे बाद किसी और की ख्वाइश न रही,
क्योंकि तेरे प्यार से सब कुछ मिला हमको।


किसी न किसी को किसी पर एतवार हो जाता है,
एक अजनबी सा चेहरा ही यार हो जाता है,
खूबियों से ही नही होती मोहब्बत सदा,
किसी की कमियों से भी कभी प्यार हो जाता है।


मेरे बजूद में काश तू उतर जाए, मैं देखूं आईना
और तू नज़र आये, तू हो सामने और ये वक्त ठहर जाए, और ये जिंदगी तुझे देखते हुए गुज़र जाए।


टूट जाएगी तुम्हारी जिद की आदत उस दिन,
जब पता चलेगा कि याद करने वाला अब याद बन गया!


सुना है आज समंदर को बड़ा गुमान आया है,
उधर ही ले चलो कश्ती जहां तूफान आया है।


आपका वक्त कितना भी बुरा क्यों ना हो, लेकिन सच्चा प्यार करनें वाला आपको कभी भी अकेला नहीं छोड़ सकता।


तेरे बिना टूट कर बिखर जायेंगे,
तुम मिल गए तो गुलशन की तरह खिल जायेंगे,
तुम ना मिले तो जीते जी ही मर जायेंगे,
तुम्हें जो पा लिया तो मर कर भी जी जायेंगे।


आप दिल से दूर हैं और पास भी,
आप लवो की हँसी हो, और आँसू भी,
आप दिल का सुकून हो,और बेचैनी भी,
आप हमारी अमानत हो,और एक सपना भी।


ना कर तू इतनी कोशिशें मेरे दर्द को समझने की,
पहले इश्क कर, फिर चोट खा, फिर लिख,दवा मेरे दर्द की।


ज़िन्दगीं में किसी का साथ काफ़ी है, हाथों में किसी का हाथ काफ़ी है, दूर हो या पास फ़र्क नहीं पड़ता प्यार का तो बस एहसास काफ़ी है।


आग लगी दिल में जब वो खफ़ा हुए,
एहसास हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा वो हमे कुछ दे न सके,
लेकिन दे गये बहुत कुछ जब वो वेबफा हुए।


बदल जाओ वक्त के साथ
या फिर वक्त बदलना सीखो
मजबूरियों को मत कोसो
हर हाल में चलना सीखो


हकीकत कहो तो उन्हें ख्वाब लगता है,
शिकवा करो तो उन्हें मज़ाक लगता है,
कितनी शिद्दत से हम उन्हें याद करते हैं,
और एक वो हैं जिन्हें ये सब मजाक लगता है।


एक आंसू भी
हुकूमत के लिए ख़तरा है
तुम ने देखा नहीं
आंखों का समुंदर होना
-मुनव्वर राणा


ख्वाइश है तुझे अपना बनाने की,
और कोई ख्वाइश नही इस दीवाने की,
शिकायत मुझे तुझसे नही खुदा से है,
क्या ज़रूरत थी तुझे इतना खूबसूरत बनाने की।


जो कह दिया वो…
अल्फाज़ थे
जो कह न सके वो…
जज्बात थे
जो कहते-कहते कह न पाये वो…
एहसास थे


उलफत के मारों से न पूछो आलम इंतजार का
पतझड़ सी है जिंदगी और खयाल बहार का।


किसी से प्यार करो तो इतना करो कि अगर वो आपको छोड़ के जाए भी तो किसी का ना हो पाए।


अब काश मेरे दर्द की कोई दवा न हो
बढ़ता ही जाये ये तो मुसल्सल शिफ़ा न हो
बाग़ों में देखूं टूटे हुए बर्ग ओ बार ही
मेरी नजर बहार की फिर आशना न हो


आ जाओ किसी रोज़ तुम तो तुम्हारी रूह मे उतर जाऊँ !
साथ रहूँ मैं तुम्हारे ना किसी और को नज़र आऊँ !
चाहकर भी मुझे कोई छू ना सके मुझे कोई इस तरह !
तुम कहो तो यूं तुम्हारी बाहों में बिखर जाऊँ !


मुझे खामोश देखकर इतना
क्यों हैरान होते हो ऐ दोस्तो
कुछ नहीं हुआ है बस
भरोसा करके धोखा खाया है!


तुमसे बिछड़ा तो पसन्द आ गयी बेतरतीबी,
इससे पहले मेरा कमरा भी ग़ज़ल जैसा था!


अब आपकी मर्जी है संभालें न संभालें। खुशबू की तरह आपके रुमाल में हम हैं।


पहली मोहब्बत के लिए दिल जिसे चुनता है. वो अपना हो न हो…दिल पर राज हमेशा उसी का रहता है।


किसी ने पूछा इश्क हुआ था क्या? हमने मुस्कुरा कर कहा आज भी है।


जब जेब में रुपये हो तो दुनिया आपकी औकात देखती है, और जब जेब में रुपये न हो तो दुनिया अपनी औकात दिखाती है।


जाम पर जाम पीने से क्या फायदा,
शाम को पीके सुबह को उतर जाएगी,
जरा दो घूट मेरे इश्क की पी कर तो देख,
तेरी सारी जिंदगी नशे में गुजर जायेगी।


नजरो से क्यों जलाती हो आग चाहत की,
जलाकर क्यों बुझाती हो आग चाहत की,
सर्द रातों में भी कराती हो तपन का एहसास,
हवा देकर क्यों बढ़ाती हो आग चाहत की।


इस प्यार का अंदाज़ न जाने कैसा है, हम क्या बताये ये राज़ कैसा है, कौन कहता है आप चाँद जैसे हो, हम तो कहते हैं की चाँद खुद आप जैसा है।


न चाँद की चाहत, न तारों की फरमाइश,
हर पल में हो तू मेरे साथ बस यही है मेरी ख्वाइश।


भंवर से निकल कर एक किनारा मिला है, जीने को फिर एक सहारा मिला है, बहुत कश्मकश में थी
ये जिंदगी मेरी, अब इस जिंदगी में साथ तुम्हारा मिला है।


हर दिन तुम मेरे दिमाग़ में आने वाली पहली और आख़िरी चीज़ हो।


हर लम्हा तेरी याद का पैगाम दे रहा है,
अब तो तेरा इश्क मेरी जान ले रहा है।


इस नजर ने उस नजर से बात करली,
रहे खामोश मगर फिर भी बात करली,
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुश पाया,
तो दोनों निगाहों ने रो रो कर बरसात करली।


जब किसी की रूह में उतर जाता है मोहब्बत का समंदर,
तब लोग जिन्दा तो होते हैं, लेकिन किसी और के अंदर।


अब हम भी कुछ मोहब्बत के गीत गुनगुनाने लगे हैं,
जब से वो हमारे ख्वाबो में आने लगे हैं।


माना की तुम जीते हो ज़माने के लिये,
एक बार जी के तो देखो हमारे लिये,
दिल की क्या औकात आपके सामने,
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये!

 


जिक्र करता है ये दिल सुबह शाम तेरा, बहते हैं
आँसू और बनता है नाम तेरा, किसी और को क्यों देखे ये आँखे मेरी, जब दिल पर लिखा है मेरे नाम तेरा।


बचाओ लाख दिल को लेकिन मोहब्बत हो ही जाती है,
निगाहे तो आखिर निगाहे हैं ये शरारत हो ही जाती है।


कमाल की चीज है ये मोहब्बत अधूरी हो सकती है, पर कभी खत्म नही हो सकती।


मोहब्बत करना है, फिर से करना है, बार बार करना, हजार बार करना है, लेकिन सिर्फ तुम से ही करना है।


जब भी मैं तुम्हे देखता हूँ तो मैं आश्चर्य में पड़ जाता हूँ कि मेरी किस्मत इतनी अच्छी कैसे हो सकती है।


आग सूरज में होती है, पर जलना ज़मी को पड़ता है, मोहब्बत निगाहों से होती है, पर तड़पाना दिल को पड़ता है।