Posted by Rajesh Kumar , Posted 124 days ago

राजनीतिक अभिजन पर एक संक्षित्प टिप्पणी लिखे |

Answer:
Answer By : Rajesh Kumar


राजनीतिक अभिजन (political  Elite ) -- राजनितिक अभिजन संकायों , वर्गों और समूहों को कहा जाता  है , जो राजनीतिक रूप से शक्ति , सत्ता और प्रभाव का उपयोग करते है | इसे कुछ स्पस्ट शब्दों में यो समझा जाता है की राजनीतिक अभिजन उन शक्तिओ को कहा जाता है , जो अपनी विशिष्ट योग्यता के कारण  देश की राजनितिक तथा समाज में अपना विशिष्ट स्थान बना लेते है | और सत्ता प्रभाव तथा शक्ति के प्रयोग में विशेष भूमिका निभाते है लारसवेल ने इसकी व्याख्या करते हुए कहा जाता  है कि  जो वर्ग राजनिति में सर्वाधिक पते है | सर्वाधिक लाभान्वित होते है ,उन्हें हम अभिजन कहते है | तथा शेष रूप को जनता कहते है | कार्ल   जे. फ्रेडरिक के अनुसार," राजनितिक अभिजन उन व्यक्तियों को कहा जाता  है | जो राजनीती में अद्वितीय कार्य करने के कारण विशिष्ट होते है | 

 मोस्का (Mosca )  -- मोस्का के अनुसार ," राजनीतिक  अभिजन एक ऐसा छोटा वर्ग है ,जो शक्ति पर एकाधिक रखते हुए समस्त  को करता है | 
अभिजन -वर्ग के उद्देश्य को ध्यान रखते हुए पता चलता है कि  ये अधिकाधिक लाभ प्राप्त करना चाहते है | भौतिक लाभों में  मकान  ,धन , व्यापारिक सुविधाए तथा अभौतिक रूप को सम्मान यश , सामाजिक प्रतिष्ठा ही इनको विशेष रूप से प्राप्त होता है | तथा इनका प्रकट कार्य जनहित के लिए होता प्रतीत होता है , परन्तु इनका स्पष्ट लाभ यही होता है कि  उससे स्वहित और समूह -हित  की अधिकाधिक प्राप्ति की जा सके , 
                                     राजनितिक विशिष्ट वर्ग विशिष्टताए 
 मोस्का ने अपनी रचना (the Ruling Elite )   सी.राइट मिल्स ने (the power Elite ) और टी.बी.   बाटोमोर  ने 'elites and Society 'में विशिष्ट वर्ग और 'राजनीतिक विशिष्ट वर्ग ' का जो विशद विवेचन प्रस्तुत  किया है ,तथा उसके अनुसार राजनीतिक  
                                     विशिष्ट वर्ग की कुछ विशेषताएँ इस प्रकार है | 
1 -- छोटा-- सा संगठित वर्ग -- असमानता प्राकृति  नियम है | और किसी भी व्ययस्था में अभी व्यक्तियों के सामान महत्व की बात केवल शब्दों में ही हो सकती है | क्षेत्र के ख्याति - प्राप्त व्यक्ति सम्मिलित होते है | यह विशिष्ट वर्ग इस दृष्टि से संगठित होता है कि  सामान्यतया इसके सदस्य एक - दूसरे के हितों व अधिकारों की रक्षा करते हैं | 
2 -- सत्ता  एकाधिकार की प्रवृत्ति -- विशिष्ट वर्ग सत्ता पर एकाधिकार की प्रवृत्ति रखता है और शेष समाज पर शासन करता है | विशिष्टवर्गीय सिद्धांत के प्रतिपदाको के अनुसार यह कहना गलत है की जनता चुनाब के माध्यम से अपने प्रतिनिधियों का चयन करती है | इस प्रकार जन -प्रतिनिधियों  पर वास्तविक रूप से शासन का कार्य विशिष्ट वर्ग ही  करती है | जैसे - कि  जे . ए  .शुम्पीटर ने कहा है |
 
3 -- विशिष्ट महत्त्व -- सभी राज -व्यवस्थाओं में में अभिजन वर्ग के विशिष्ट महत्त्व  प्राप्त होता है | अभिजन वर्ग देश की राजनीतिक  दिशा निष्चित  करता है | और यह भी यह निर्णय करता है कि  किन उपायों को अपनाकर इस लक्ष्य को प्राप्त किया जायेगा | तथा इसके अतिरिक्त इससे उन्हें एक मनोवैज्ञानिक संतुष्टि भी प्राप्त होती है| 
4--  विशिष्ट हित -- अभिजन वर्ग का जीवन की प्रति सामान्य जन  के पृथक रूप में अपना एक विशिष्ट दृष्टिकोण होता है | सामान्य जन की तुलना में उनकी भौतिक और मानसिक आवश्यकताएँ अधिक होती है | और यही उनकी विशिष्ट हितो को जन्म देती है | अभिजन वर्ग और सामान्य जनता के हितो में अंतर तो होगा ही ,लेकिन इन दोनों के हितो में ऐसा अंतर नहीं होना चाहिए जिसे पता न जा सकता हो | 
5 --  अभिजन वर्ग में परिवर्तन -- अभिजन वर्ग में निरंतर परिवर्तन होते रहते है | आज जो अभिजन वर्ग है , तथा उसका विरोध करने के लिए 'प्रति अभिजन ' (Counter -Elites ) का जन्म होता है , यह प्रति अभिजन  स्वय क्र लिए की स्थिति प्राप्त करने के लिए निरन्तरप्रयत्नशील रहता है | तथा भारत और अमरीका में 1977 में चुनाव के आधार पर भोजन वर्ग में परिवर्तन हुए ,लेकिन में ईरान में अभिजन वर्ग में परिवर्तन के लिए क्रांति और बल प्रयोग के तरीके को अपनाया गया | 
            निष्कर्ष रूप में , यही कहा जा सकता है कि  राजनीतिक  अभिजन एक ऐसा संगठित अल्पसंख्यक उच्च शासन - वर्ग  है , जो प्रजा पर अपनी प्रभुता का प्रयोग करता है |     

   
 

Upvote(0)   Downvote   Comment   View(282)
Question you may like
भर्जन (Accession) किसे कहते है

1930 में किसके प्रयास से शारदा एक्ट पारित हुआ था

ध्वनि-तरंगों की प्रकृति अनुदैर्घ्य (Longitudinal) क्यों है

लेन्ज का नियम ऊर्जा संरक्षण का सिद्धांत है

प्रव्रजन क्या है ? जनाधिक्य को रोकने के निमित्त यह कितना कारगर उपाय है

भारत के प्रमुख राष्ट्रीय जलमार्गों का वर्णन करें

बिटामिन B1 लो कमी से कौन सी बीमारी होती है

गाँधीजी बढियाँ शिक्षा किसे कहते थे

यंग इण्डिया का स्थापना कब हुआ था

एक जल में घुलनशील एवं एक वसा में घुलनशील विटामिन के नाम लिखे

चल कुण्डली गैल्वेनोमीटर तथा चल चुम्बक गैल्वेनोमीटर की व्यंजक प्राप्त करे

किसी भी वस्तु , खाद्य पदार्थ , संरक्षित पदार्थ के लिए लेबल कैसे बनाये

बीमारू शब्द से क्या अभिप्राय है ? इससे प्रभावित होने वाले राज्यों के नाम बताएं।

परंपरा का ज्ञान किनके लिए सबसे ज्यादा आवश्यक है, और क्यों

रोहित शर्मा टेस्ट मैच में पहली बार ओपनिंग किस देश के साथ करेंगे

जाइलम का मुख्य कार्य क्या है

संसार अपार महासागर मानव लघु-लघु जलयान बने' के आधार पर मानव के जागतिक स्वरूप का विवेचन करें

हमारी नींद' शीर्षक कविता की सार्थकता पर विचार कीजिए

रोमन कैथोलिक चर्च पुस्तकों की सूचि रखनी क्यों आरम्भ कर दी

आयरन को जांगीकरण को रोकने के लिए दो विधि क्या है